ESR टेस्ट क्या है और किन-किन बीमारियों में ESR लेवल्स बढ़ जाता है

 119,998 total views

Erythrocytes Sedimentation Rate (ESR)  टेस्ट क्या है?

एरिथ्रोसाइट सेडीमेंटेशन रेट (ESR), जिसे सेडीमेंटेशन रेट या वेस्टरग्रेन ई.एस.आर टेस्ट भी कहा जाता है, यह एक ऐसी जाँच होती है, जिसमें, लाल रक्त कणिकाओं की जाँच की जाती है। इस जाँच के द्वारा रक्त की लाल कोशिकाओं में मिले सेडीमेंट (मैल) की मात्रा का पता लगाया जाता है। जिसका निर्माण एक घंटे में होता है। यह एक आम हिमेटोलॉजी टेस्ट (रक्त जाँच) होता है, जिसके द्वारा शरीर के किसी भी हिस्से में सूजन या संक्रमण का पता लगाया जा सकता है। सेडीमेंटेशन रेट (sed rate) ब्लड टेस्ट के द्वारा, यह जाँच की जाती है कि ब्लड सैंपल लिए जाने के कितने समय के बाद, लाल रक्त कोशिकाओं में से एरिथ्रोसाइट्स टेस्ट ट्यूब में नीचे जम जाते हैं। एक घंटे में, जितनी लाल रक्त कणिकाएं ट्यूब में, नीचे बैठती हैं, सेडीमेंटेशन रेट भी उतनी ही ज्यादा होती है।

 

Erythrocytes Sedimentation Rate (ESR)  टेस्ट क्या है?

ESR  टेस्ट से  क्या पता चलता  है?

किन-किन बीमारियों में ESR levels  बढ़ जाता है?

ESR  टेस्ट कब करवानी चाहिए?

ESR  टेस्ट  की नार्मल वैल्यू क्या होती है?

बड़े हुए ESR लेवल्स को कैसे ठीक करें।

जब शरीर में सूजन मौजूद होती है, तो रक्त में भी प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है, और यही प्रोटीन की मात्रा जब, रक्त के कणों के साथ चिपक जाता है, तो वह कण तेजी से नीचे की तरफ बैठने शुरू हो जाते हैं, और इस तरह से ट्यूब में बहुत सारे कण बेहद तेजी से इकट्ठे हो जाते हैं। इन प्रोटीन्स का निर्माण, लिवर द्वारा और इम्यून सिस्टम (प्रतिरक्षा प्रणाली) द्वारा किया जाता है। इस तरह के प्रोटीन का निर्माण असामान्य स्थिति में नहीं होता। यदि किसी व्यक्ति को संक्रमण, ऑटो इम्यून डिजीज (स्व – प्रतिरक्षित रोग) और कैंसर के कारण होता है। शरीर में सेडीमेंटेशन रेट ज्यादा होने के इनके अलावा भी बहुत से कारण हो सकते हैं।

ESR  टेस्ट से  क्या पता चलता  है?

  • शरीर में फैले संक्रमण और सूजन की जाँच के लिए।
  • बीमारी की गति का पता लगाने के लिए।
  • यह पता लगाने के लिए कि ट्रीटमेंट कितने अच्छे से काम कर रहा है।

ESR  टेस्ट कब करवानी चाहिए?

नीचे दिए हुए लक्षण अगर आपको लम्बे समय तक रहते है तो आपके डॉक्टर आपको ESR की जाँच के लिए बोल सकते हैं।

  • सिरदर्द
  • जोड़ों में दर्द
  • जोड़ो में कठोरता
  • कंधे, गर्दन और पेल्विस में दर्द
  • भूख न लगना
  • बिना किसी प्रयास के वजन लगातार कम होते जाना

ESR टेस्ट के लिए बैसे सुबहः का ब्लड सैंपल ज्यादा अच्छा माना जाता है लेकिन आप इसका सैंपल कभी भी दे सकते है रिजल्ट में कुछ ज्यादा अंतर नहीं पड़ता है इसके लिए खाली पेट सैंपल लेने की कोई जरूरत नहीं होती आप खाना खाकर भी इसका सैंपल दे सकते हैं।

ESR  टेस्ट  की नार्मल वैल्यू क्या होती है?

ESR टेस्ट के परिणाम mm/hr  या प्रति घंटे मिलीमीटर में मापा जाता है।

निम्नलिखित को सामान्य ESR टेस्ट का परिणाम माना जाता है:

  • 50 वर्ष से कम उम्र की महिलाओं का 20 mm/hr के तहत ESR होना चाहिए।
  • 50 वर्ष से कम उम्र के पुरुष का 15 mm/hr के तहत ESR होना चाहिए।
  • 50 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं का 30 mm/hr के तहत ESR होना चाहिए।
  • 50 वर्ष से अधिक आयु के पुरुषों का 20 mm/hr के तहत ESR होना चाहिए।
  • नवजात शिशुओं का 2 mm/hr के तहत ESR होना चाहिए।
  • जो बच्चे यौवन तक नहीं पहुंचते हैं उनका 3 से 13 mm/hr के बीच ESR होना चाहिए।

 किन-किन बीमारियों में ESR levels  बढ़ जाता है?

  • संक्रमण (Infection)
  • सूजन (Inflammation)
  • टी.बी. की बीमारी (Tuberculosis)
  • निमोनिया (Pneumonia)
  • रूमेटिक बुखार (Rheumatic fever)
  • कैंसर (Cancer)
  • रक्तवाहिनियो की लाइनिंग में सुजन (Giant cell arteritis)
  • Lupus (एक autoimmune बीमारी जो  स्किन जोड़ों और शरीर के अन्य भागो को प्रभावित करती है)
  • माशपेशियों में कठोरता और दर्द होना (Polymyalgia rheumatica)
  • जोड़ों में दर्द होना (Rheumatoid arthritis)
  • रक्तवाहिनियो में सुजन होना  (Systematic vasculitis )
  • शरीर में रक्त की कमी (Anemia)
  •  किडनी की बीमारियाँ (Kidney problems)
  • थाइरोइड की समस्या  (Thyroid disease)
  • सिर से सम्बंधित रक्तवाहिनियो में सुजन होना (Temporal arteritis)

Erythrocyte Sedimentation Rate (ESR) की समय समय जाँच से पता लगता है। की ट्रीटमेंट का क्या फरक पड़ रहा है Erythrocyte Sedimentation Rate (ESR) पर दवाओं और सप्लीमेंट का भी असर  पड़ सकता है और आपको प्रेग्नेंट होने या पीरियड होने के बारे में भी डॉक्टर को जरुर बताये।

बड़े हुए ESR लेवल्स को कैसे ठीक करें।

देखिये बड़े हुए ESR को कम करने के लिए पहले आपको ये पता लगाना पड़ेगा की आपका ESR की वैल्यू  किस बजह से बढ़ रही है उसके बाद आपको उस बीमारी को ठीक करने के लिए कदम उठाना पड़ेगा ESR अपने आप से नार्मल हो जायेगा।

कई अलग-अलग दवाएं आपके ईएसआर टेस्ट के परिणाम को प्रभावित करती हैं। जो नीचे दी हुई हैं:

एंड्रोजन, जैसे टेस्टोस्टेरोन

एस्ट्रोजेन

एस्पिरिन या अन्य सैलिसिलेट, जब उच्च मात्रा में लिया जाता है।

वैलप्रोइक एसिड (डेपाकिन)

डिवलपोएक्स सोडियम (डीपाकोटे)

फेनटोइन (दिलान्टिन)

हेरोइन

मेथाडोन

Phenothiazines

प्रेडनिसोन

अगर आप इनमे से कोई दवा ले रहे हों तो अपने डॉक्टर को बताएं। आपका डॉक्टर आपको टेस्ट के पहले दवा लेने से अस्थायी रूप से रोक सकता है।

28 thoughts on “ESR टेस्ट क्या है और किन-किन बीमारियों में ESR लेवल्स बढ़ जाता है

  • March 7, 2019 at 12:24 am
    Permalink

    I discovered your internet site from Google and I need to claim it was a terrific locate.
    Thanks!

    Reply
    • October 29, 2019 at 1:26 pm
      Permalink

      mere bachhe ki umra 12 saal hai. uski esr level 24 hai …. chest X ray report normal hai ….to uski esr kaise kumm ho sakti hai . usko aagey koi dikkat to nahi aa sakti hai na ?

      Reply
  • March 7, 2019 at 2:20 am
    Permalink

    ESR baar baar bad jaata hi asa kin karno say ho rha hi kiukiese jab bad jatj hi tab fever fever aaja hi koi upay btay

    Reply
  • March 28, 2019 at 4:31 pm
    Permalink

    Sir Mera ESR 45 hai ise Kam Karne me upay bataye aur mujhe koi dikkat to Nahi hai

    Reply
    • December 8, 2019 at 11:06 am
      Permalink

      Meri age 21 year hai or esr 42.mm , x ray bhi normal nhi hai Dr ne kaha h mujhe TB nhi hai but khasi (खांसी ) thik nhi ho rahi hai to mujhe kya karna chahiye

      Reply
  • April 6, 2019 at 5:23 am
    Permalink

    My mothers esr level is 54 and she is 42yera old dr gives the advise for abdominal ct and ultra sound rwsul is small intestine inflammetion now shes
    suffering from huge abdominal pain what we do ?

    Reply
  • April 8, 2019 at 5:31 am
    Permalink

    My self Anita Kashyap my ESR 42 H ESE KAISE KAM KAR SAKTE HAIN.

    Reply
  • April 13, 2019 at 6:12 pm
    Permalink

    Mera ESR 80 h esko km kse kru
    Muje koe problem though nho hoge plz suggest me

    Reply
  • April 13, 2019 at 6:12 pm
    Permalink

    Mera ESR 80 h esko km kse kru
    Muje koe problem though nho hoge plz suggest me

    Reply
    • November 22, 2019 at 11:12 am
      Permalink

      Es koe problem nhi hoti h bs apne doctor se shlah le skte or apne aap ko menten kr ke rkhna hota h ye infection ki or esara krta h lekin koe ghabrane wali bat nhi h any questions this my whatsapp number 9027053208 Dr lal path lab

      Reply
  • April 17, 2019 at 6:54 am
    Permalink

    This is Manjeet Kaur Bedi n my esr level is 31

    Reply
  • April 28, 2019 at 5:33 pm
    Permalink

    Mera esr 90 h or mujhe baar baar fevar bi ata h kya ye bhut krb h

    Reply
  • May 12, 2019 at 7:01 am
    Permalink

    Sir my wife ESR is 48 ;TSH is 10.57 and she always suffers from joint pain. Plz give me proper advice

    Reply
    • June 10, 2019 at 7:22 pm
      Permalink

      Sir mera esr level 72 hai or body p sweeeling bhi h Maine doc. Ko dekhaya h pr jo unhone medicine di h. unse meri date aati h baar baar. sir m yh kaise pta lgau 72 esr mera kis vjh s bda h kya iske liye koi test h jo pta lg ske esr bnde ki vjh kya hai.

      Reply
      • June 12, 2019 at 7:42 am
        Permalink

        Agar body per swelling hai to arthritis bgaira ke test krane pdenge aapko but eske liye aapko apne doctor se hi consult krna pdega..

        Reply
      • September 10, 2019 at 3:00 pm
        Permalink

        My esr is 60mm or swelling bhi h body mein ye kyu h or theek kaise kiya jayega

        Reply
    • September 18, 2019 at 8:55 am
      Permalink

      Mera name parmeshwar hai my age 40 year hai muje muscle me pain rahat hai mera esr 72mm/he hai medicine le raha hun but pain aaram nahi ho raha hai

      Reply
  • June 4, 2019 at 10:06 am
    Permalink

    एसआर 40 है उसे कैसे कम करो

    Reply
  • June 10, 2019 at 7:23 pm
    Permalink

    Sir mera esr level 72 hai or body p sweeeling bhi h Maine doc. Ko dekhaya h pr jo unhone medicine di h. unse meri date aati h baar baar. sir m yh kaise pta lgau 72 esr mera kis vjh s bda h kya iske liye koi test h jo pta lg ske esr bnde ki vjh kya hai.

    Reply
  • August 8, 2019 at 11:33 pm
    Permalink

    Mera name Manjay hai sir mujhe khansi ek month se Thik nahi ho rha hai jab Maine esr test karbaya to 90 nikla Maine doctor se dikhaya medicine karbaya Thik ho gaya ab Mujhe phir khansi se presan Hu Kya Kare ye ek month ho gaya please reply sir

    Reply
  • September 10, 2019 at 3:00 pm
    Permalink

    My esr is 60mm or swelling bhi h body mein ye kyu h or theek kaise kiya jayega

    Reply
  • September 20, 2019 at 10:39 pm
    Permalink

    Mera 18 year me 20 mm esr hai ise kam kaise karu

    Reply
  • November 26, 2019 at 10:36 am
    Permalink

    mera esr 55 hai kya kre ise kam karne ke liye
    or yah kis karan bada

    Reply
  • December 11, 2019 at 11:44 pm
    Permalink

    Dear sir aap ne jo reply kiya tha vo delete
    Ho gya tha isaliye mujhe ek bar fir se batiya ki
    Mera esr 42.mm hai to esr ko kese kam kiya ja sakta hai please please reply

    Reply
  • December 11, 2019 at 11:51 pm
    Permalink

    Dear sir aap ne jo reply kiya tha vo delete
    Ho gya tha isaliye mujhe ek bar fir se batiya ki
    Mera esr 42.mm hai or khasi(खांसी ) bhi thik nhi ho rahi hai to mujhe kya karna chahiye or esr ko kese kam kiya ja sakta hai please please reply

    Reply
    • December 12, 2019 at 8:52 am
      Permalink

      Hi sir gd mrng,

      ESR normal krne ke liye aapko uske jd tk pahuchna pdega means kis bajah se ESR level increase hua eske kafi sare regon hote h agar aapko sath me khanshi rhti hai to sbse phle aap apni TB ka test krariyega jisme chest x ray and mountox, tb gold etc, aap kra skate hain.

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
%d bloggers like this: